सिंपल इन्वर्टर को सोलर इन्वर्टर कैसे बनाये

1 1,309

सिंपल इन्वर्टर को सोलर इन्वर्टर कैसे बनाये

How to convert a normal inverter into a Solar Inverter In Hindi : इन्वर्टर का इस्तेमाल आज के समय में हर घर में हो रहा है और जहां पर भी बिजली की समस्या होती है वहां पर अक्सर इनवर्टर का ही इस्तेमाल किया जाता है इनवर्टर एक अच्छा बैटरी बैकअप देता है और एक बिजली का अच्छा स्त्रोत है. लेकिन इनवर्टर में भी बैटरी बैकअप एक सीमित समय के लिए होता है उसके बाद में आपका इनवर्टर भी काम नहीं करता लेकिन अगर आप इनवर्टर के साथ में सोलर सिस्टम को जोड़ देते हैं तो इसकी सीमित सीमा बढ़ जाती है और आप सारा दिन बिना Main Supply के भी बिजली का इस्तेमाल कर सकते हैं.

आजकल मार्केट में आपको ऐसे सोलर इन्वर्टर मिल जाते हैं जिन पर आपको सिर्फ सोलर प्लेट्स को लगाने की जरूरत होती है लेकिन अगर आपका इनवर्टर पुराना है तो इसके लिए आपको बीच में एक सोलर चार्ज कंट्रोलर लगाना पड़ेगा जिससे कि आपका एक नॉर्मल इनवर्टर भी सोलर इन्वर्टर बन जाएगा इसके लिए आपको सबसे पहले Solar panel अपनी छत पर सेट कर देना है और सोलर प्लेट की दो वायर को जिनमें से एक नेगेटिव होगी और एक पॉजिटिव होगी उसको बैटरी तक ले कर आना है. लेकिन यह सब करते समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण है.

ध्यान रखने योग्य बातें

Solar panel :- सोलर पैनल का चुनाव करते समय आपको यह देखना होगा कि आपका इनवर्टर कितनी बैटरी का है मान लीजिए आपका इनवर्टर एक बैटरी का है तो इसके लिए आपको 250w का एक सोलर पैनल खरीदना पड़ेगा. जिससे कि आपके इनवर्टर की बैटरी नॉर्मल चार्ज हो जाएगी अगर आप चाहते हैं कि आपके इनवर्टर की बैटरी जल्दी चार्ज हो तो इसके लिए आपको 250w के 2 सोलर पैनल खरीदने पड़ेंगे.

लेकिन इसके लिए आपको सोलर पैनल को आपस में समानांतर Parallelly जोड़ना होगा.और अगर आपका इनवर्टर दो बैटरी वाला है तो इसके लिए आप को कम से कम दो ( 250w , 18V )सोलर पैनल खरीदने पड़ेंगे और यह आपको करम ( Series ) में जोड़ने पड़ेंगे और अगर आप चाहते हैं कि डबल बैटरी वाला इनवर्टर जल्दी चार्ज हो तो आपको चार सोलर पैनल खरीदने पड़ेंगे जिसमें से दो सोलर पैनल को आपस में करम ( Series ) में जुड़ेंगे और फिर दोनों का सेट आपस में समानांतर Parallelly जुड़ेगा.

Solar Charge Controller :-  इससे पहले वाली पोस्ट में हमने आपको MPPT और PWM Solar Controllers के बारे में बताया था और उसमें आपको बताया था कि इन दोनों में से कौन सा ज्यादा बढ़िया होता है और कौन सा को इस्तेमाल करना चाहिए. PWM सोलर चार्ज कंट्रोलर काफी सस्ता होता है यह आपको लगभग 1500 रुपए में मिल जाएगा लेकिन यह बैटरी को बहुत ही धीरे चार्ज करेगा. और MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर आपको इस से 3 गुना महंगा पड़ेगा लेकिन वह बैटरी को बहुत जल्दी चार्ज करेगा और आपके सोलर पैनल की चार्जिंग एफिशिएंसी को 30 % तक बढ़ा देगा. और जहां तक संभव हो MPPT सोलर चार्ज खरीदने की कोशिश करें.

Sukam MPPT Solar Charge Controller 12V-24V-20Amp

Inverter & Battery :- बैटरी और इन्वर्टर में आपको किसी तरह का कोई बदलाव करने की जरूरत नहीं है सिर्फ आपको कनेक्शन करते समय इन पर थोड़ा सा ध्यान देने की जरूरत है कोई भी कनेक्शन गलत ना करें नीचे आपको इस का डायग्राम दिखाया जाएगा जिसे आप समझ कर बहुत ही आसानी से इसका कनेक्शन कर सकते हैं इसमें कभी भी आप एक हिरन गीता का इस्तेमाल ना करें सोलर पैनल से आने वाली दोनों तारों का रंग आपको लाल और काला रखना है जिससे कि आपको पता चल जाएगा कि कौन सा तार पॉजिटिव है और कौन सा तार नेगेटिव है.

सिंपल इन्वर्टर को सोलर इन्वर्टर कैसे बनाये

ऊपर आपको MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर के कनेक्शन दिखाए गए हैं यहां पर आप देख सकते हैं कि जो बैटरी का कनेक्शन है वह सीधा इनवर्टर पर है जिसमें आपको कोई बदलाव नहीं करनी है लेकिन जो आपने MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर लगाया है उसमें आपको जहां पर बैटरी लिखा हुआ है वहां पर कनेक्शन बैटरी के करने हैं और जहां पर आपको Solar PV लिखा हुआ मिले वहां पर आपको सोलर पैनल के कनेक्शन करने हैं लेकिन इस कंट्रोलर के साथ में करेक्शन करते समय आपको + और – रखना है.

अगर आपने गलती से भी गलत कनेक्शन कर दिए तो आपका MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर खराब हो सकता है. जो कि आपको काफी नुकसानदायक होगा. तो इसीलिए सबसे पहले आपको सोलर पैनल से आने वाली तारों को ध्यानपूर्वक देखना है कि कौन सी पॉजिटिव तार है और कौनसी नेगेटिव तार है. और MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर पर भी आपको देखना है कि Solar PV पर कौन सी तरफ पॉजिटिव तार जुड़ेगी और कौन सी तरफ नेगेटिव तार जुड़ेगी उसी आधार पर ध्यान पूर्वक इन का कनेक्शन करें.

MPPT Solar Charge Controller

अगर आपने ऊपर दिए गए लिंक से Sukam कंपनी का MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर खरीदा है तो सोलर चार्ज कंट्रोलर आपको नीचे से ऐसा देखने को मिलेगा . जहां पर आप सोलर पैनल बैटरी और डीसी लोड के कनेक्शन बहुत ही आसानी से कर सकते हैं अगर आप सभी कनेक्शन के बीच में MCB लगाना चाहते हैं तो उसका इस्तेमाल भी आप कर सकते हैं इससे आपको फायदा यह होगा कि आप जब भी बैटरी सोलर पैनल या डीसी लोड का कनेक्शन बंद करना चाहे तो बिना तार निकाले ही एमसीबी से ही आप उस का कनेक्शन बंद कर सकते हैं.

यह सोलर चार्ज कंट्रोलर आप 12v और 24v दोनों इनवर्टर पर लगा सकते हैं इसमें ऑटोमेटिकली बैटरी सिलेक्ट करने का feature किया गया है जिससे कि यह अपने आप पता लगा लेता है कि आपका इनवर्टर 12v का है या 24v का है. अगर आपका इनवर्टर सिंगल बैटरी का है तो यह 12v का इनवर्टर होगा और अगर आपका इनवर्टर बैटरी का है तो यह 24v का इनवर्टर है.

तो इस Mppt सोलर चार्ज कंट्रोलर का इस्तेमाल करने से आपको काफी फायदे होंगे जैसे कि इसमें आपको देखने की जरूरत नहीं है कि आपका इनवर्टर सिंगल बैटरी का है या डबल बैटरी का है , अगर आपके पास अभी सिंगल बैटरी का इनवर्टर है और अब बाद में आप डबल बैटरी का इनवर्टर ले कर आते हैं तो उस पर भी यह सोलर चार्ज कंट्रोलर काम करेगा इसके लिए आपको नया खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

ऊपर आपको बताया गया है कि How to convert a normal inverter into a Solar Inverter In Hindi : कैसे आप अपने घर के एक सामान्य इनवर्टर को सोलर इन्वर्टर में बदल सकते हैं इसके लिए आपको सिर्फ सोलर पैनल खरीदने होंगे और एक MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर खरीदना पड़ेगा जिसके कनेक्शन आपको ऊपर दिखाए गए हैं जो कि कोई भी व्यक्ति बड़ी ही आसानी से कर सकता है तो अगर इसके बारे में अभी भी आपका कोई सवाल या सुझाव है या ऑफिस के बारे में कुछ पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.

1 Comment
  1. Nandlal Kushwaha says

    बैट्री चार्जिग समय 0% से100% तक करन्ट रेटिंग ? (150Ah)
    जब तक पावर होगा बैट्री चार्ज होगा। इस दौरान कैसे पता करे कितना चार्ज है।
    बैट्री फुल चार्ज होने पर पावर आटो वाईपास कैसे करे , ताकि चार्जिग बन्द हो।

Leave A Reply

Your email address will not be published.