बैटरी पर C10 और C20 क्या होता है

बैटरी पर C10 और C20 क्या होता है

बैटरी का इस्तेमाल बिजली जाने के बाद में आपके घर के उपकरणों को चलाने के लिए बैकअप के तौर पर इस्तेमाल की जाती है. इसीलिए बैटरी का सही चुनाव करना बहुत ही जरूरी होता है ताकि आपको एक सही बैटरी बैकअप मिल सके और आपके जो पैसे लगे हैं बैटरी खरीदने में वह व्यर्थ ना जाएं. बिना जानकारी के ऐसे ही बैटरी खरीद लेने से उसमें बहुत सारी दिक्कत आ सकती है क्योंकि बैटरी खरीदते समय आपको कई छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना काफी जरूरी होता है जिससे कि आप एक सही बैटरी खरीद पाए.

वैसे तो बैटरी बैकअप बढ़ाने के लिए हम इससे ज्यादा बैटरियों का इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन अगर आपने गलत बैटरी खरीद ली तो आपकी दो बैटरी अभी उतना बैकअप नहीं दे पाएंगे. इसीलिए बैटरी खरीदने से पहले उसके ऊपर लिखी हर एक डिटेल को अच्छे से जाने और आपको कितना बैकअप चाहिए आपको कितना लोड चलाना है इतनी देर आपको लोड चलाना है यह सभी जानकारी आपको पहले पता होनी चाहिए तभी आप अपने लिए बैटरी खरीद सकते हैं. नीचे आपको बैटरी की रेटिंग होती है C10 और C20 यह क्या होती है और इनका क्या महत्व होता है इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

बैटरी पर C10 और C20 क्या होता है

वैसे तो हम बाजार से जब बैटरी खरीदने जाते हैं तो हम वहां पर बैटरी की Ah वैल्यू बताकर बैटरी खरीदने हैं कि हमें 20AH की बैटरी चाहिए या 100 AH की बैटरी चाहिए या 150 AH की बैटरी चाहिए. यहां AH का मतलब Amp. Hours होता है.हालांकि जो बैटरी की AH वैल्यू होती है उसी पर इसका बैटरी बैकअप निर्भर करता है. कि एक 150AH की बैटरी से आप कितने घंटे कितना करंट ले सकते हैं.लेकिन आज मार्केट में जो सोलर बैटरी आ रही है उन पर आपको इनकी रेटिंग C10 जैसे देखने को मिलेगी जो कि इनकी चार्जिंग और डिस्चार्ज करंट की वैल्यू को Fix कर देती है.

जैसे कि अगर आपने एक 150AH की बैटरी खरीदी है जिस पर C10 लिखा हुआ है. तो आप बैटरी की AH वैल्यू को 10 से भाग दे दे. 150/10 = 15 एंपियर. ऐसा करने पर निकल कर आता है.और अगर आपने 150Ah @ C20 रेटिंग की बैटरी खरीदी है तो इसका चार्जिंग डिस्चार्ज इन करंट 7.5 एंपियर होगा. 150 AH @ C10 में  15 एंपियर चार्जिंग और डिसचार्जिंग करंट की वैल्यू है. यानी कि आप इस बैटरी को अगर 15 एंपियर करंट से चार्ज करेंगे और 15 एंपियर करंट से डिस्चार्ज करेंगे तभी यह आपको 150 AH जितना बैटरी बैकअप दे सकेगी और जो इसका निर्धारित समय है उतने ही समय में यह चार्ज हो सकेगी.

अगर आप 15 एंपियर करंट के बजाय इसे कम करंट से चार्ज करेंगे तो यह चार्ज होने में काफी ज्यादा समय ले लेगी इसमें तो कोई ज्यादा बड़ी दिक्कत नहीं है कि आपको बैटरी चार्ज करने में ज्यादा समय लगेगा लेकिन अगर आप इस पर 15 एंपियर करंट लोड से ज्यादा लोड डालेंगे तो यह अपना जो बैटरी बैकअप है वह कम कर देती है. अगर 15 एंपियर करंट लोड चलाने पर यह 10 घंटे का बैटरी बैकअप देगी तो अगर आप इस पर 20 एंपीयर का लोड चलाएंगे तो यह आपको मुश्किल से 4 घंटे का बैटरी बैकअप देगी.

C10 vs C20 battery which is better ?

C10 बैटरी और C20 बैटरी में से अगर किसी एक बैटरी का चुनाव आपको करना पड़े तो आप को अगर ज्यादा लोड चलाना है तो आप C10 बैटरी खरीदें और अगर आपको कम लोड चलाना है तो C20 बैटरी खरीदें. और अगर आपको सोलर पैनल का इस्तेमाल है करना है तो उस स्थिति में आपको सिर्फ और सिर्फ C10 बैटरी ही खरीदनी है.

तो इसीलिए आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना है कि आपको कितना करंट इस पर डालना है. और सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि आपको लोड का पता होना चाहिए कि कितना ज्यादा आप लोड इस पर चला सकते हैं ताकि आप एक सही रेटिंग की बैटरी खरीद सकें. अगर आपको नहीं पता कि आप कितना लोड चलाते हैं तो आप ज्यादा AH की बैटरी खरीदें जैसे कि 200Ah @ C10 . तो इस बैटरी पर आप 20 एंपियर तक का करंट लोड चला सकते हैं. इससे आपको यह फायदा होता है कि अगर आप एक समय पर ज्यादा लोड भी चला देते हैं तो बैटरी पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता. जिससे कि आपकी बैटरी अच्छे से काम करती रहती है.

अगर आपको कम लोड ज्यादा देर तक चलाना है तो भी ज्यादा AH की बैटरी आपको चाहिए गी. और अगर आप कम लोड को कम देर तक ही चलाना चाहते हैं तो आप 100 से 120 AH तक की बैटरी भी खरीद सकते हैं जिससे कि आपका काम चल जाएगा.

जहां पर कम समय बिजली आने की दिक्कत होती है. और ज्यादातर यह ग्रामीण क्षेत्र में होती है क्योंकि वहां पर दिन के समय में मुश्किल से 4 से 5 घंटे ही बिजली आती है. ऐसी जगह पर लोगों को बैटरी बैकअप ज्यादा चाहिए होता है और बैटरी को जल्दी चार्ज करना होता है. ऐसी थी आप बैटरी को जल्दी चार्ज करने के लिए इस पर ज्यादा करंट देकर जल्दी चार्ज कर सकते हैं. और ज्यादा करंट का मतलब यहां पर वही है कि जो उसका निर्धारित करंट होगा उतना करंट आपको उसको देना पड़ेगा. जिसके लिए आप सोलर पैनल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. क्योंकि अगर बिजली सिर्फ 4 से 5 घंटे आएगी तो उसमें आपकी जो बैटरी है वह फुल चार्ज नहीं हो पाएगी. और आपको ज्यादा देर तक फिर बैकअप नहीं मिलेगा.

इसकी बजाय आप साथ में सोलर पैनल का भी इस्तेमाल कर लीजिए जिससे कि आपकी बैटरी दिन के समय में बहुत धीरे-धीरे डिस्चार्ज होगी. और अगर आप ज्यादा बड़े सोलर पैनल लगा देते हैं तो आपकी बैटरी डिस्चार्ज नहीं होगी बल्कि वह दिन के समय में सोलर पैनल से ही चार्ज हो जाएगी और आपका बिजली का बिल भी कम हो जाएगा.

इसीलिए आपको जो सोलर बैटरी है उस पर C10 लिखा हुआ मिल जाता है अगर आपने की नार्मल बैटरी देखेंगे तो उस पर C10 लिखा हुआ नहीं मिलता.

उम्मीद है आपको पता चल गया होगा कि C10 रेटिंग क्या होती है और आपको बैटरी खरीदने से पहले ही है रेटिंग देखनी क्यों चाहिए. तो आज की पोस्ट में आपको c10 battery manufacturers amaron c10 battery advantages of c10 batteries c10 battery for inverter c10 vs c20 battery which is better c10 battery 150ah 200ah c10 battery battery c10 rating meaning  की पूरी जानकारी दी गई है अगर इसके बारे में अभी भी आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!