1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर कितना लोड चला सकते हैं

1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर कितना लोड चला सकते हैं

सोलर सिस्टम खरीदने से पहले हमें यह पता होना बहुत ही जरूरी है कि जो सोलर सिस्टम हम खरीद रहे हैं वह हमारी जरूरत के अनुसार सही है या नहीं. क्योंकि हर किसी को नहीं पता होता कि कितने किलो वाट के सोलर सिस्टम पर कितना लोड चला सकते हैं. वैसे तो एक सामान्य घर के लिए 1 किलोवाट का सोलर सिस्टम बिल्कुल सही होता है 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर आप लगभग 800 watt रक्त का लोड बिल्कुल आराम से चला सकते हैं. और 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम से आपको दिन के समय में अच्छी धूप होने पर 4-5 यूनिट बिजली मिलेगी.

अगर आप 1 दिन में 4-5 यूनिट बिजली की खपत कर देते हैं तो आपके लिए 1 किलोवाट का सोलर सिस्टम बिल्कुल सही रहेगा. लेकिन फिर भी आपको यह नहीं पता कि आप कितना लोड चलाते हैं और कौन-कौन सा लोड आपका सोलर इनवर्टर से चल सकता है या यूं कहें कि सोलर सिस्टम से चल सकता है तो आपको नीचे कुछ सूची दी जाएगी और आपको कुछ जानकारी दी जाएगी जिससे आपको पता चल जाएगा कि आप कितना लोड चला सकते हैं.

1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर कितना लोड चला सकते हैं

1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर आपको 1 किलो वाट के सोलर पैनल लगाने पड़ते हैं. लेकिन 1 किलोवाट के सोलर पैनल से आपको पूरा 1 किलोवाट पावर नहीं मिलता है अगर आप पूरा 1 किलोवाट पावर सोलर पैनल से लेना चाहते हैं तो आपको कम से कम 1300 watt के सोलर पैनल लगाने पड़ेंगे. और आप जो इनवर्टर या सोलर चार्ज कंट्रोलर इस्तेमाल कर रहे हैं वह एमपीपीटी टेक्नोलॉजी का होना चाहिए तभी आप सोलर पैनल से आने वाली पूरी सप्लाई का इस्तेमाल कर पाएंगे.

तो अब बात करते हैं कि कितना लोड आप चला सकते हैं. तो जो लोड आप चलाते हैं वह पूरा का पूरा सोलर इनवर्टर पर चलता है ना कि आपके सोलर पैनल पर आपके सोलर पैनल से आपको रेगुलर सप्लाई मिलती रहेगी लेकिन जो आपका सोलर इनवर्टर होगा पूरा लोड उसी के ऊपर चलता रहेगा अगर आपका लोड सोलर पैनल से आने वाली सप्लाई से ज्यादा है तो इनवर्टर जो अतिरिक्त पावर है वह बैटरी से लेना शुरू हो जाएगा या आप की Grid सप्लाई से लेना शुरू हो जाएगा. तो ऐसे में आप जितना मर्जी लोड डाल सकते हैं लेकिन सर यह है कि आपका सोलर इनवर्टर उस लोड को सपोर्ट करना चाहिए.

अगर आपने 1 kw का सोलर इनवर्टर लगाया है तो आप उस पर लगभग 1 किलोवाट तक का लोड चला सकते हैं. लेकिन अगर आप ज्यादा लोड चलाना चाहते हैं तो अपने 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर जो आप सोलर इनवर्टर लगा रहे हैं वह ज्यादा कैपेसिटी का खरीदें. यानी कि अगर आप अभी 1 किलोवाट का सोलर इनवर्टर ले रहे हैं तो उसकी जगह आप 2 kw का सोलर इनवर्टर खरीदें ताकि आप उस पर और ज्यादा लोड चला सकेंगे. 2 kw के सोलर इनवर्टर से आप 1 ton का एयर कंडीशनर भी बड़ी ही आसानी से चला सकते हैं लेकिन 1 kw के सोलर इनवर्टर पर आप 1 ton का एयर कंडीशनर नहीं चला पाएंगे.

एयर कंडीशनर का उदाहरण हम यहां पर इसलिए दे रहे हैं क्योंकि बहुत सारे लोग ज्यादातर एयर कंडीशनर चलाने के लिए ही 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम को लगाते हैं और बाद में उनको पता चलता है कि इस पर 1 ton का एयर कंडीशनर नहीं चलेगा. लेकिन आप थोड़ी सी पैसे ज्यादा देकर उस पर एयर कंडीशनर चला सकते हैं और आप दिन के समय में 5-6 तक बिल्कुल फ्री में एयर कंडीशनर सोलर पैनल की मदद से चला सकते हैं. सिर्फ आपको अपने 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम में 2 kw का सोलर इन्वर्टर लगाना पड़ेगा जिसकी कीमत थोड़ी सी ही ज्यादा होती है.

अगर आप सोलर चार्ज कंट्रोलर का इस्तेमाल करते हैं तो आप माइक्रोटेक कंपनी का Microtek UPS JM SW 2500/24V इनवर्टर ले सकते हैं यह एक साधारण इनवर्टर है लेकिन इसके ऊपर आप 1 ton का एयर कंडीशनर बड़े आराम से चला सकते हैं. और अगर आप ज्यादा लोड चलाना चाहते हैं तो आप जहां तक हो सके आप इसी सीरीज का ज्यादा कैपेसिटी वाला इनवर्टर खरीदें क्योंकि इसमें आपको एक अलग से कनेक्शन मिलता है जिस पर आप एयर कंडीशनर का कनेक्शन कर सकते हैं.

नीचे आपको सूची दी गई है जिससे आपको पता चल जाएगा कि आप कितना लोड 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम पर चला सकते हैं लेकिन याद रखें आप जितना ज्यादा लोड चलाएंगे आपका बैटरी बैकअप उतना ही कम हो जाएगा लेकिन दिन के समय में आप 4-5   घंटे सोलर पर अपना पूरा लोड चला पाएंगे उसके बाद में आपका पूरा सिस्टम बैटरी पर या Grid सप्लाई से चलेगा.

4 LEDs + 4 Fan + 1 TV 800 watt 4 Hours
4 LEDs + 3 Fan + Fridge 800 watt 4 Hours
4 LEDs + 2 Fan + 1 TV 500 watt 6 Hours

अगर आप ज्यादा बैटरी बैकअप चाहते हैं तो इसके लिए आप ज्यादा बैटरी या लगा सकते हैं लेकिन बैटरी आपके सोलर इनवर्टर पर निर्भर करेगी कि आप कितनी लगा सकते हैं. अगर आपका इन्वर्टर 2 बैटरी का है तो आप इस पर 2 या 4 बैटरी जोड़ सकते हैं अगर आपका सिस्टम 3 बैटरी का है तो आप इस पर 3 या 6 बैटरी जोड़ सकते हैं तो जितनी ज्यादा बैटरी होगी उतना ज्यादा आपको बैटरी बैकअप मिलेगा

2 tons किसी को चलाने के लिए सोलर सिस्टम

2 ton के एयर कंडीशनर को चलाने के लिए आपको लगभग 2200 watt की पावर सप्लाई चाहिए और अगर आपके पास में इनवर्टर एसी है तो आपको एयर कंडीशनर चलाने के लिए मार्केट में बहुत सारे इन्वर्टर मिल जाएंगे लेकिन माइक्रोटेक कंपनी का Microtek UPS JM SW 3500/36V मॉडल 2 ton के इनवर्टर एयर कंडीशनर को चलाने के लिए बहुत बढ़िया रहेगा इस पर आप 2500 watt तक का लोड करा सकते हैं तो आप एक 2 ton के एयर कंडीशनर को बड़ी आसानी से इसके ऊपर चला सकेंगे. यह एक साधारण इनवर्टर है इस पर अगर आप सोलर पैनल लगाना चाहते हैं तो आप को सोलर चार्ज कंट्रोलर का इस्तेमाल करना पड़ेगा तो इसके लिए आप 50 amp/48v का MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर का इस्तेमाल करें जिसकी मदद से आप इस इनवर्टर पर 2000 watt तक के सोलर पैनल कनेक्ट कर पाएंगे. और दिन के समय में आप अपना एयर कंडीशनर सोलर पैनल की मदद से चला पाएंगे.

 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम की कीमत

अगर आप अपने घर पर 1 किलो वाट का सोलर सिस्टम लगवाना चाहते हैं तो इससे पहले आपको पता होना चाहिए कि सोलर सिस्टम तीन प्रकार के होते हैं. ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम बिना बिजली के काम नहीं करता है यानी कि आपके घर पर पहले बिजली होनी चाहिए तभी यह सिस्टम काम करेगा. और इसमें किसी प्रकार का कोई भी बैटरी बैकअप नहीं होता है. दूसरा ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम होता है जो कि आपके घर में बिजली हो या ना हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता यह अपना काम करता रहता है इसमें बैटरी बैकअप को मिलता है. जिसके कारण इसकी कीमत थोड़ी ज्यादा हो जाती है. और तीसरा होता है हाइब्रिड सोलर सिस्टम यह ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम और ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम दोनों की तरह काम कर सकता है इसीलिए इसकी कीमत भी ज्यादा होती है तो नीचे आपको तीनों तरह के सोलर सिस्टम की कीमत बताई गई है.

Price List of 1kW solar system 2020
Model Selling Price Price per watt
1. On Grid solar system Rs.65,000 Rs.65
2. Off Grid solar system Rs.80,000 Rs.80
3. Hybrid solar system Rs.1,00,000 Rs.100

ऊपर आपको 1 किलो वाट के सोलर सिस्टम की कीमत और उस पर आप कितना लोड चला सकते हैं के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर अभी भी इसके बारे में आपका कोई भी सवालिया सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!