Electrical

घरेलू बिजली फिटिंग करते समय इन बातों का ध्यान रखे

घरेलू बिजली फिटिंग करते समय इन बातों का ध्यान रखे

Tips For Household electrical fittings ? घर पर बिजली की फिटिंग करना या घर की वायरिंग करना वैसे तो बहुत ही आसान काम है कोई भी सामान्य व्यक्ति जिसे बिजली के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी है.

वह अपने घर की वायरिंग आसानी से कर सकता है. लेकिन हर एक सामान्य व्यक्ति को कई बातों का नहीं पता होता जिसके कारण वह घर की फिटिंग वायरिंग करते समय काफी गलतियां कर देता है.

इन गलतियों का उसे बाद में पता चलता है. और फिर उसे वह गलतियां ठीक करनी पड़ती है. तो उन सभी गलतियों को आप ना करें इसीलिए आज इस पोस्ट में हम आपको घरेलू बिजली फिटिंग करते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसके बारे में बताएंगे.

वैसे तो बिजली फिटिंग से संबंधित हमने पहले भी काफी जानकारी हमारी वेबसाइट पर साझा की है जैसे कि बिजली की फिटिंग में कौन से रंग की तार किस लिए होती है , Electrical Wiring फिटिंग कितने प्रकार की होती है, Earthing क्या है अर्थिंग कैसे करे,यह सारी जानकारी इलेक्ट्रिकल वायरिंग से संबंधित है जिन्हें आपको जरूर पढ़ना चाहिए.

यह जानकारी पढ़ने से पहले आपको नीचे दी गई बातों को ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा तभी आप अपने घर में सही प्रकार से वायरिंग कर सकते हैं.

वायरिंग का नक्शा

घर पर वायरिंग करने से पहले आपको वायरिंग का नक्शा या वायरिंग का डायग्राम बनाना बहुत ही जरूरी है अगर आप अपने पूरे घर की वायरिंग का डायग्राम बना लेते हैं तो आपको काफी आसानी हो जाएगी सामान खरीदने में और वायरिंग करने में तो इसीलिए सबसे पहला काम आपका है.

कि आप अपने पूरे घर की वायरिंग का एक नक्शा तैयार करें. और उस नक्शे के आधार पर ही आप अपना सारा सामान खरीदे जिससे कि आपको पूरा पूरा सामान खरीदने में मदद मिलेगी और आपका पैसा और समय बर्बाद भी नहीं होगा.

बिजली की सामग्री अच्छी कंपनी की ख़रीदे

जब हम बिजली की फिटिंग करते हैं या वायरिंग करते हैं तो सबसे पहले हमारा सारा सामान बिल्कुल अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए. क्योंकि बिजली से संबंधित कोई भी लापरवाही आपके लिए बहुत ही हानिकारक साबित हो सकती है.

तो कुछ पैसे बचाने के लिए कभी भी कम क्वालिटी का बिजली का सामान ना खरीदें या फिर किसी लोकल कंपनी का सामान ना खरीदें. अक्सर आप दुकानदार के पास जाकर सिर्फ अपना सामान बता देते हैं.

जिससे दुकानदार आपको सामान तो देता है. लेकिन कम से कम क्वालिटी का सामान आपको देगा जिससे कि दुकानदार को ज्यादा मुनाफा होगा और आपको सबसे ज्यादा हानि. तो इसीलिए सामान खरीदते समय किसी अच्छी कंपनी का नाम बताएं और उसी कंपनी का सामान खरीदें.

हालांकि कंपनी का सामान थोड़ा सा महंगा होता है लेकिन उसकी गैरंटी होती है जिससे कि आपको किसी प्रकार का नुकसान होने की संभावना बहुत कम हो जाती है.

  1. Bajaj electricals limited
  2. Crompton greaves
  3. Havells india limited
  4. ABB india limited
  5. Siemens
  6. Anchor
  7. Kirloskar electric company limited
  8. HBL power systems limited
  9. Emco limited
  10. Alstom india limited

यंहा से ख़रीदे

Copper Wire का इस्तेमाल करे

जब हम घर की वायरिंग करते हैं तब तारों का विशेष ध्यान रखना पड़ता है कि कौन से साइज की तार कहां लगानी है यह किस काम के लिए इस्तेमाल में लेनी है लेकिन यह सब काफी नहीं होता इसके अलावा हमें तारों की क्वालिटी पर भी ध्यान देना चाहिए.

जब हम मार्केट से तार लेने जाते हैं तो हम सिर्फ उसे तार का साइज बताते हैं कि हमें कितने mm का तार चाहिए लेकिन यह नहीं बताते कि हमें कॉपर वायर चाहिए या फिर एलमुनियम की तार चाहिए. इसीलिए दुकानदार आपको ज्यादातर Aluminium की तार देता है क्योंकि वह सस्ती होती हैं और इसमें दुकानदार का ज्यादा मुनाफा होता है.

लेकिन आपको ध्यान रखना है कि आपको अपने घर में सिर्फ और सिर्फ कॉपर की तार का ही इस्तेमाल करना है यह एलमुनियम की तार से थोड़ी सी महंगी जरूर होती है लेकिन इसकी क्वालिटी एलमुनियम की तार से कहीं ज्यादा होती है और यह ज्यादा लंबे समय तक चलती है. इसीलिए आप अपने घर की वायरिंग करते समय सिर्फ कॉपर के तार का इस्तेमाल करें .

बिजली फिटिंग का सामान कौन कौन सा है

तारों को अच्छे से जोड़े

जब हम वायरिंग करते हैं तो तारों का कनेक्शन करते समय या तारों को आपस में जोड़ते समय उनके कनेक्शन हम ढीले छोड़ देते हैं या जल्दबाजी में उस पर टेप लगाना भूल जाते हैं. जो की सबसे बड़ी लापरवाही मानी जाती है.

जब भी घर में वायरिंग करते हैं तो जहां पर भी आपको दो तारों को आपस में जोड़ना पड़े या दो से ज्यादा तारों को आपस में जोड़ना पड़े तो उन पर आप अच्छे से टेप जरूर लगाएं और टेप को ज्यादा से ज्यादा टाइट रखने की कोशिश करें. जितना मजबूत कनेक्शन आप करेंगे उतनी ही दुर्घटना होने की संभावना कम होगी.

MCB और Fuse का इस्तेमाल करे

जब हम घर की वायरिंग करते हैं तो कुछ पैसे बचाने के लिए हम हमारे घर में फ्यूज या फिर एमसीबी का इस्तेमाल नहीं करते जिसका नुकसान हमें किसी दुर्घटना में पता चलता है तो किसी प्रकार की कोई भी दुर्घटना ना हो इसीलिए हमें फ्यूज और एमसीबी का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए.

अगर आप ज्यादा एमसीबी का इस्तेमाल नहीं कर सकते तो अपने पूरे घर पर एक एमसीबी का इस्तेमाल जरूर करें जो कि आपके घर में आने वाली मेन सप्लाई को कंट्रोल कर सके.

MCB क्या है कैसे काम करती है

Indicator और FAN Regulator का इस्तेमाल करे

जब हम घर की वायरिंग करते हैं तब अक्सर स्विच बोर्ड में इंडिकेटर को लगाना भूल जाते हैं जिसका पछतावा हमें बाद में होता है. क्योंकि इंडिकेटर कि आपको बताता है कि आपके स्विच बोर्ड में सप्लाई आ रही है या नहीं.

तो इसके लिए आपको अपने स्विच बोर्ड में एक इंडिकेटर जरूर लगाना चाहिए. और बहुत बार हम अपने स्विच बोर्ड में फैन रेगुलेटर का इस्तेमाल नहीं करते क्योंकि सोचते हैं कि इसकी क्या जरूरत है.

लेकिन बिजली बचाने के लिए आपको FAN रेगुलेटर का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए और जब आपको लगे कि पंखे की स्पीड ज्यादा है तो उसे कम करके चलाएं. अगर हम फैन रेगुलेटर का इस्तेमाल करेंगे तो हम पंखे की स्पीड को कम कर के भी उसे चला सकते हैं जिससे कि हमें बिजली के बिल में भी बचत होगी.

Earthing जरुर करे

सामान्यतः हम घरों में कभी भी अर्थिंग का इस्तेमाल नहीं करते क्योंकि हम सोचते हैं कि हमें अर्थिंग की जरूरत नहीं है. लेकिन बहुत बार हमारा उपकरण खराब होने के कारण हमें इलेक्ट्रिक करंट लग जाता है.

जिससे सिर्फ और सिर्फ अर्थिंग ही हमें बचा सकती है. तो इलेक्ट्रिक करंट से बचने के लिए हमें अपने घर में अर्थिंग करनी बहुत ही जरूरी है. और सभी उपकरण को भी अर्थिंग से जोड़ना बहुत ही जरूरी है.

अगर आपको नहीं पता कि आप अपने घर में अर्थिंग कैसे कर सकते हैं तो इसके बारे में हमने पहले एक पोस्ट में बताया है उसे आप जरूर देखें .

Earthing क्या है अर्थिंग कैसे करे

5 – 15 amp की सॉकेट और स्विच का इस्तेमाल करे

सामान्यतः घरों में हम 5 से 6 एंपियर की सॉकेट और स्विच का इस्तेमाल करते हैं . लेकिन जहां पर हमें ज्यादा बड़ा उपकरण चलाना होता है जैसे कि रूम हीटर पानी गर्म करने की रॉड फ्रिज इत्यादि वहां पर हमें कम से कम 15 से 16 एंपियर की स्विच और सॉकेट का इस्तेमाल करना चाहिए.

लेकिन बहुत सारे लोग ऐसा नहीं करते हैं और वह ऐसे बड़े उपकरण को भी 5 से 6 एंपियर की सॉकेट और स्विच में लगा देते हैं जिसके कारण स्विच और सॉकेट दोनों ही जल जाते हैं. तो ऐसी दुर्घटना से बचने के लिए अपने घर में 15 से 16 एंपियर के भी स्विच और सॉकेट लगवाएं.

तो यह कुछ महत्वपूर्ण बातें थी जो कि आपको अपने घर में वायरिंग करते समय ध्यान में रखनी है अगर आप इनमे से कुछ बातों को भूल जाते हैं तो आप को काफी नुकसान हो सकता है.

यह सभी बातें बहुत ही महत्वपूर्ण हैं और इन्हें याद रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है तो जब भी घर की वायरिंग करें उससे पहले आप दोबारा से इन बातों को एक बार जरूर ध्यान से पढ़ लें अगर इसके बारे में आप कुछ और जानना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके पूछो.

Related Articles

One Comment

  1. मुझे अपने घर बनाने के बाद स्वम बिजली फिटिंग करूंगा इसलिए जानकारी आप मुझे और अधिक देवे जिससे समय और पैसा खराब होने से बच सके (पैसे बचत का तात्पर्य यह की में खुद ही फिटिंग करूँ )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Eapro 5 किलोवाट सोलर सिस्टम लगवाने की कीमत Eapro 3 किलोवाट सोलर सिस्टम लगवाने की कीमत Smarten 6 किलोवाट सोलर सिस्टम लगवाने की कीमत Eapro 2 किलोवाट सोलर सिस्टम लगवाने की कीमत Eapro 1 किलोवाट सोलर सिस्टम लगवाने की कीमत