Civil Engineering क्या है Civil Engineer कैसे बने

Civil Engineering क्या है Civil Engineer कैसे बने

Civil engineer me kya hota hai ? – सिविल इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग की वह शाखा है जिसके अंतर्गत रोड, नहर, बांध और इमारतों इत्यादि के डिजाइन बनाए जाते हैं. इंजीनियरिंग की यह शाखा काफी पुरानी शाखा है. क्योंकि प्राचीन काल में भी बहुत सारी इमारतें और रोड बनाए गए थे और बांध भी बनाए गए थे जो कि सभी सिविल इंजीनियरिंग के ही अंतर्गत आते हैं. इसका सबसे बड़ा उदाहरण है सिंधु घाटी सभ्यता जिसमें लोगों ने मकान और सर के आज के समय के जैसी ही बनाई थी. इस लिए हम कह सकते हैं कि सिविल इंजीनियरिंग का इतिहास बहुत पुराना है .

मिस्र के पिरामिड के बारे में तो आपने सुना ही होगा जो कि इतिहास में सबसे बड़ा निर्माण माना जाता है. इस निर्माण (circa 2700–2500 BC) में हुआ था.इसके अलावा Qanat water management system भी सिविल इंजीनियरिंग का एक बहुत अच्छा उदाहरण है. जो कि लगभग 3000 साल पुराना है और यह 71 किलोमीटर लंबा है.हम आपको बताते है की भारत के पहले सिविल इंजीनियर कौन थे ?  भारत के पहले सिविल इंजीनियर  मोक्षगुंडम विश्वेश्वराय थे .और भारत की सबसे पहली महिला सिविल इंजीनियर Shakuntala A. Bhagat थी . इतिहास में ऐसे ही और भी बहुत सारी वस्तुएं बनाई गई.जो कि सिविल इंजीनियरिंग से संबंधित थी और आज के समय में भी ऐसे ही चीजों का निर्माण करना बहुत मुश्किल है. तो आज की यह पोस्ट सिविल इंजीनियरिंग से संबंधित है . इस पोस्ट में आपको सिविल इंजीनियरिंग से संबंधित सारी जानकारी दी जाएगी .

सिविल इंजीनियरिंग प्रश्न उत्तर

Civil Engineer कैसे बने

Civil engineer kaise bane? सिविल इंजीनियर बनने के लिए पहले आपको सिविल इंजीनियरिंग शाखा से डिप्लोमा या डिग्री करनी पड़ेगी और फिर सिविल इंजीनियर से संबंधित जॉब/नौकरी करनी पड़ेगी. तभी आप एक सिविल इंजीनियर बन पाएंगे. सिविल इंजीनियरिंग आप 10 वीं कक्षा के बाद में भी कर सकते हैं और बारहवीं कक्षा के बाद में भी कर सकते हैं अगर आप 10वीं कक्षा के बाद में करना चाहते हैं तो आपको डिप्लोमा करना होगा किसी भी पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट से आप सिविल इंजीनियरिंग शाखा से 3 साल का डिप्लोमा करके आप सिविल इंजीनियर की नौकरी पा सकते हैं या फिर 12 वीं कक्षा के बाद में आप डिग्री करके सिविल इंजीनियर की नौकरी पा सकते हैं.

अगर आप 12वीं कक्षा के बाद में डिग्री करना चाहते हैं तो आपको 12 वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ लेना होगा तभी आप सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक कर पाएंगे. और 10 वीं कक्षा के बाद में आप सीधे पॉलिटेक्निक में सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा करके और बाद में आप सिविल इंजीनियरिंग से ही बीटेक करके सिविल इंजीनियर की डिग्री पा सकते हैं.

Civil Engineering के बाद जॉब

civil engineering ke baad kya kare?  सिविल इंजीनियरिंग से पढ़ाई करके आप नौकरी करना चाहते हैं तो आपके सामने बहुत सारे विकल्प है या बहुत सारे क्षेत्र है जहां पर आप एक सिविल इंजीनियर के रुप में नौकरी कर सकते हैं. या फिर आप मास्टर डिग्री करके और कहीं पर सिविल इंजीनियर के टीचर लग सकते हैं. नीचे आपको उन सभी विभागों और पदों के नाम दिए गए हैं जहां पर आप सिविल इंजीनियरिंग करके नौकरी कर सकते हैं.सिविल इंजीनियर प्राइवेट और सरकारी दोनों ही नौकरियां आसानी से पा सकता है .(designation of civil engineer , types of jobs for civil engineers, career options for civil engineers)

Civil Engineering Job Titles
  1. Agricultural engineering Technician
  2. Air pollution field Technician
  3. Architectural and engineering Technologists and Technicians supervisor
  4. Bridge design Technician
  5. Building materials Technician
  6. Civil engineering design Technologist
  7. Civil engineering studies Technologist
  8. Civil engineering Technician
  9. Civil engineering Technologist
  10. Concrete Technician
  11. Construction engineering Technician
  12. Construction requirements writer
  13. Construction specifications writer
  14. Construction Technician
  15. Construction Technician – civil engineering
  16. Construction Technologist
  17. Design Technologist, civil engineering
  18. Environmental Technician
  19. Field Technician, air pollution
  20. Foundation Technologist
  21. Highway Construction materials testing Technician
  22. Highway Technician
  23. Highway traffic Technician
  24. Land use Technician
  25. Materials testing Technician
  26. Materials testing Technologist
  27. Measures Technician
  28. Municipal engineering assistant
  29. Railway Technician
  30. Road Technician
  31. Road traffic Technician
  32. Soil Technologist – civil engineering
  33. Soil testing Technologist
  34. Soil testing Technologist – civil engineering
  35. Specifications writer, Construction
  36. Structural design Technologist
  37. Structural engineering Technician
  38. Structural investigator
  39. Supervisor, architectural and engineering Technologists and Technicians

civil engineering ke fayde की बात करे तो ऊपर दी गई सूची में से आप किसी भी विभाग में अच्छी नौकरी पा सकते हैं और अगर आप डिप्लोमा करते हैं सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो यह ब्रांच  सबसे बढ़िया है. और आगे भविष्य में भी सिविल इंजीनियर की बहुत मांग होने वाली है. क्योंकि आज के समय में बहुत बड़ी बड़ी बिल्डिंग है रोड,बांध इत्यादि बन रहे हैं.

Civil Engineering की सैलरी

किसी भी व्यक्ति की सैलरी उस व्यक्ति की नौकरी उसके पद और अनुभव के ऊपर निर्भर करती है ऊपर आपको सिविल इंजीनियरिंग से संबंधित बहुत सारी नौकरियों की सूची दी है तो सभी नौकरियों में सैलरी अलग अलग होती है और जैसे-जैसे आपको काम का अनुभव होता जाता है वैसे वैसे सैलरी भी बढ़ती जाती है. सामान्यत है सिविल इंजीनियर की सैलरी तीन से चार लाख सालाना होती है. इस हिसाब से civil engineer salary per month 25000 से ₹30000 होगी.

अगर आप सिविल इंजीनियरिंग करके अच्छी सैलरी वाली नौकरी चाहते हैं तो आप सिविल इंजीनियरिंग से डिग्री जरूर करें क्योंकि डिग्री करने के बाद में एक अच्छी सैलरी वाली नौकरी मिलने की संभावना और ज्यादा हो जाती है. अगर आप डिप्लोमा करते ही नौकरी पाने की कोशिश करेंगे तो आपकी सैलरी 10000 से ₹15000 ही होगी लेकिन अगर आप 1 डिग्री हासिल करने के बाद में नौकरी करेंगे तो आपको अच्छी सैलरी मिलेगी.

विदेशों में Civil Engineer की नौकरी

भारत के मुकाबले विदेशों में सिविल इंजीनियर की बहुत ज्यादा मांग है क्योंकि वहां पर बहुत तेजी से बड़ी बड़ी इमारतों के निर्माण हो रहे हैं जहां पर अच्छे से अच्छे सिविल इंजीनियर की जरुरत पड़ रही है. इसलिए बाहर वाले देशों में सिविल इंजीनियर की मांग बहुत ज्यादा है. अगर आप विदेशों में सिविल इंजीनियर के रुप में नौकरी करना चाहते हैं तो आपको किसी अच्छे विश्वविद्यालय से सिविल इंजीनियरिंग करनी होगी. एक अच्छे विश्वविद्यालय से डिग्री हासिल करने पर विदेशों में नौकरी मिलने की संभावना और ज्यादा हो जाती है.

विदेशों में और आसानी से नौकरी हासिल करने के लिए आप को विदेशों के ही विश्वविद्यालय से सिविल इंजीनियरिंग करनी चाहिए अगर आप चाहते हैं कि आपकी सिविल इंजीनियरिंग पूरी होते ही आपको विदेश में नौकरी मिल जाए तो आपको वही के किसी अच्छे विश्वविद्यालय से सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री को पूरा करना होगा ताकि आपको जल्द से जल्द वहां पर नौकरी मिल जाए.

विदेशों में Civil Engineer की सैलरी

सिविल इंजीनियर की मांग विदेशों में ज्यादा होने के कारण वहां पर सैलरी भी बहुत अच्छी दी जाती है. अगर अमेरिका जैसे देश की बात करें तो वहां पर एक सामान्य सिविल इंजीनियर की सैलरी $50000 से $60000 होती है. अगर इन्हें भारतीय रुपयों में बदलें तो यह भारतीय सैलरी के मुकाबले कई गुना ज्यादा होगी नीचे आपको कुछ और देशों के नाम और वहां पर एक सिविल इंजीनियर की सैलरी के बारे में पूरी जानकारी दी गई है .

Dubai में Civil Engineer की Salary = लगभग 97,242 AED = 17,21,231 रूपए (2017 में )
Canada में Civil Engineer की Salary = लगभग C$64,527  = 32,91,639 रूपए (2017 में )
Kuwait में Civil Engineer की Salary = लगभग 8,477 KWD  =  18,24,026 रूपए (2017 में )
Singapore  में Civil Engineer की Salary = लगभग $39347 = 18,86,230 रूपए (2017 में )
Australia  में Civil Engineer की Salary = लगभग AU$72,392 =  35,51,049 रूपए (2017 में )

तो ऊपर कुछ देशों के नाम और वहां पर दी जाने वाली सैलरी दी गई है इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं .कि विदेशों में भारत के मुकाबले कितनी ज्यादा सैलरी मिलती है. लेकिन विदेशों में नौकरी पाना काफी मुश्किल है .अगर आपने वही से सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री की है तभी आपको वहां पर नौकरी जल्दी मिल सकती है. नहीं तो भारत में आपको सिविल इंजीनियर के रूप में कई सालों तक काम करना होगा और आपको काम का अनुभव होने के बाद में ही विदेशों में नौकरी मिलने की संभावना हो सकती है .

इस पोस्ट में आपको सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा , भारत के पहले सिविल इंजीनियर कौन थे, व्हाट इस सिविल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग पुस्तक, सिविल इंजीनियरिंग प्रश्न उत्तर, सिविल इंजीनियरिंग में करियर, civil engineering in hindi के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर इसके बारे में आप कुछ और जानना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके पूछो.

26 Comments

Leave a Comment