सोलर पैनल क्या है और यह किस तरह से बिजली बनाता है

सोलर पैनल क्या है और यह किस तरह से बिजली बनाता है

इस पोस्ट में सोलर पैनल के बारे में बताऊंगा सोलर पैनल क्या होता है. यह किस तरह से बिजली बनाता है. और यदि आप अपने घर में सोलर पैनल लगाना चाहते हैं. तो किस तरह से उसको लगा सकते हैं. इन सभी के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से दूंगा और सोनल पैनल के बारे में भी विस्तार से जानकारी इस पोस्ट में आपको बताऊंगा कि सोलर पैनल मे क्या-क्या चीजें लगी होती है.

सोलर पैनल सोलर सेल से बना होता है. सोलर पैनल में छोटे-छोटे सेल्स होते हैं. जिन पर यदि सूरज की रोशनी पड़ती है. तो उस रोशनी को उन सेल्स की हेल्प उस लाइट को करंट में या बिजली में बदल देते हैं. ऐसे ही बहुत सारे छोटे छोटे शहर मिलकर एक बड़े सोलर पैनल का निर्माण करते हैं. आज के समय में सोलर पैनल तो बहुत जगह पर इस्तेमाल किए जाते हैं. यदि हम सोलर पैनल का इस्तेमाल करते हैं. तो हमें किसी जनेटर या किसी दूसरी बिजली की आवश्यकता नहीं होती है. और इसे नहीं प्रदूषण होता है. और सोलर पैनल तो इतने बड़े-बड़े होते हैं. सोलर पैनल आप अपने पूरे घर की लाइट को कंट्रोल कर सकते हैं. उनसे आप अपने पूरे घर में लाइट इस्तेमाल कर सकते हैं. और यह एक बहुत ही अच्छी चीज है. उसके लिए सिर्फ आपको सूरज की रोशनी चाहिए और आप बिजली तैयार कर सकते हैं.

सोलर पैनल कैसे काम करता है

Image Source :- Wikipedia

अब हम आपको बताएंगे सोलर पैनल किस तरह से काम करता है सिलिकॉन एक सेमीकंडक्टर होता है. जो दो प्रॉपर्टी दिखाता है. एक तो कंडक्टर की और दूसरी इंसुलेटर चाहिए जैसे कि आप को उसके नाम से ही पता लग रहा है. सेमीकंडक्टर यानी आधा कंडक्टर यह आधा कंडक्ट करता है और आधा इंसुलेट करता है. कंडक्टर के बारे में शायद आप जानते हैं. अगर नहीं जानते तो कोई बात नहीं कंडक्टर वह होता है. जिसके अंदर से इलेक्ट्रिसिटी या बिजली पास होती है. जैसे कि कोई इलेक्ट्रिकल तार लोहे का या किसी दूसरी धातु का किसी भी धातु का तार यह एक कंडक्टर होता है.  और यदि आप एक लकड़ी की बनी चीज से बिजली की तार को कनेक्ट करते हैं. तो एक इंसुलेट का काम करते हैं. और उसके अंदर से बिजली पास नहीं होती है. अब आपको पता चल गया होगा कि कंडक्टर क्या होता है. सेमीकंडक्टर इंसुलेटर और कंडक्टर दोनों चीजों से मिलकर बना होता है. यानी यह दोनों चीजों का काम करता है.

अब आपको पता चल गया है कि सेमीकंडक्टर क्या होता है सेमीकंडक्टर में जो सिलिकॉन होती है इसमें दो टाइप का होता है इसके दो सिरे होते हैं P और N टाइप होता है वह Positive और N मतलब Negative दोनों को एक साथ इकट्ठा किया जाता है. और उसके ऊपर सूरज की रोशनी डाली जाती है. Positive इलेक्ट सेमीकंडक्टर से Negative की तरफ प्रोटोन चल कर जाते हैं. आप जानते हो इलेक्ट्रॉन क्या होते हैं इलेक्ट्रॉन्स बहुत ही छोटे और सूक्ष्म कण होते हैं. और जब वह चलना शुरू कर देते हैं उसी को हम बिजली करंट बोलते हैं सूरज की रोशनी से सूक्ष्म कण हैं. उनको देखना बिल्कुल नामुमकिन है. उनको फोटॉन कहते हैं. सूरज की रोशनी से सूक्ष्म कण आते हैं. सोलर पैनल पर गिरते हैं. और इस सेमीकंडक्टर में ऐसी प्रक्रिया होना शुरू हो जाती है जिससे पॉजिटिव से इलेक्ट्रॉन चलना शुरू कर देते हैं. बिजली बन जाती है Negative की तरफ जब इलेक्ट्रॉन्स जाते हैं. तो वहां पर खाली जगह होती है. उस जगह को वहां पर बदलने के लिए इलेक्ट्रॉन्स जाना शुरु कर देते हैं. और इस तरह से ही  बिजली सोलर पैनल द्वारा बनती है. अब आपको पता चल गया होगा कि सोलर पैनल किस तरह से बिजली बनाता है.अब हम बतायेगे कि आप अपने घर में सोलर पैनल लगाना चाहते हैं. तो किस तरह से उसको लगा सकते.

अपने घर में सोलर पैनल किस तरह की लगाएं

यदि आप अपने घर में सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं. तो यह आपके ऊपर निर्भर करता है. कि आपके घर में कितनी बिजली इस्तेमाल की जा रही है उसके हिसाब से आप अपने घर में सोलर पैनल लगवा सकते हैं. वैसे तो सोलर पैनल ₹100 से लेकर 10,000 20,000 एक लाख और 10,00000 रुपए तक आते हैं. जिससे कि आप बहुत बड़े बड़े काम के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. और सोलर पैनल से आप ट्यूबवेल भी चला सकते हैं. और इससे भी बड़े-बड़े सोलर पैनल आ रहे हैं. जो की बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियों में लगाए जा रहे हैं.

यह आपके ऊपर निर्भर करता है.. कि आप कितनी बिजली इस्तेमाल करना चाहते हैं. यदि आप सिर्फ एक पंखा या लाइट का ही इस्तेमाल करना चाहते हैं. तो आपका छोटा सोलर पैनल में भी काम चल सकता है. और यह सोलर पैनल वोल्ट के हिसाब से आते हैं. और एक बात और हम आपको बता दें कि यदि आप सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं. तो उससे पहले आप किसी सोलर पैनल की जानकारी वाले आदमी से जरूर पूछें क्योंकि भारत सरकार द्वारा सोलर पैनल के ऊपर बहुत तरह की सब्सिडी दी जा रही है. जिससे कि आपको यह कम रेट पर भी मिल सकता है.

सोलर पैनल के फायदे

1.यदि आप सोलर पैनल एक बार लगवा लेते हैं. तो उसके बाद आपको किसी भी तरह की दूसरी बिजली की जरूरत नहीं पड़ती है.
सोलर पैनल आपको लगभग हर टाइम बिजली देगा जब तक उसके ऊपर सूरज की किरण पड़ती रहती है. वह आपको बिजली देता रहता है. इससे की इससे किसी भी तरह की अगर दिक्कत होती है. तो भी आप को बिजली मिलती रहेगी जैसे कि आंधी तूफान आने से यदि आपके आसपास के एरिया की लाइट चली जाती है. तो भी आपको इससे लाइट मिलती रहेगी यह इसका सबसे बड़ा फायदा है.
2.यदि आप गांव में रहते हैं या अब खेत में रहते हैं. और आपके पास बिजली का कोई साधन नहीं है. तो आप इसका बहुत ही आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं. और आप जितनी चाहे इससे बिजली ले सकते हैं. वह आपके ऊपर निर्भर करता है. कि आप किस तरह से बिजली का इस्तेमाल कर रहे हैं.
3.आज के समय की सबसे ज्यादा बड़ी समस्या प्रदूषण है. और यदि आप सोलर लाइट का इस्तेमाल करते हैं. तो प्रदूषण को कम किया जा सकता है इससे किसी भी तरह का प्रदूषण नहीं होता है.
4.एक बार सोलर पैनल लगवाने से आप को हर महीने के बिजली बिल से भी छुटकारा मिल जाएगा.

ऐसे सोलर पैनल लगवाने की आपको बहुत से और भी फायदे मिल जाते हैं. तो आप अपने घर में अगर लाइट से परेशान है. तो सोलर पैनल जरूर लगवाएं.

मैंने आपको इस पोस्ट में एक बहुत ही अच्छी और महत्वपूर्ण जानकारी आपको बताई है. शायद आप इस जानकारी को पढ़कर इस चीज का इस्तेमाल भी करना चाहेंगे हमने आपको आज इस पोस्ट में सोलर पैनल क्या है. सोलर पैनल किस तरह से लाइट बनाता है. इसके बारे में आपको पूरी और विस्तार से जानकारी दी है यदि आपको हमारे द्वारा बताई गई सोलर पैनल के बारे में जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.

21 Comments

Leave a Comment