इलेक्ट्रिकल मशीन के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर

इलेक्ट्रिकल मशीन के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर

इलेक्ट्रिकल ब्रांच से डिप्लोमा या डिग्री करने वाले विद्यार्थियों को इलेक्ट्रिकल से संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारी हमारी वेबसाइट पर मिल जाएगी अगर कोई विद्यार्थी इलेक्ट्रिकल मशीन से संबंधित जानकारी ढूंढ रहा है.

तो उसके लिए हमारी वेबसाइट बिल्कुल उपयुक्त है हम हमारी वेबसाइट पर समय-समय पर इंजीनियरिंग से संबंधित सभी जानकारी और उसके प्रश्न उत्तर देते रहते हैं. और आज की पोस्ट में हमने आपको इलेक्ट्रिकल मशीन से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रश्न एक टेस्ट के रूप में दिया है .यह प्रश्न पहले भी इलेक्ट्रिकल की परीक्षा में पूछे गए हो और आगे भी पूछे जाएँगे .इन्हें आप ध्यान से पढिए ,यह आपके लिए बहुत फायदेमंद होंगे .

1. निम्न में से कौन सा 3 फेज स्कवेरल केज प्रेरणा मोटर की स्पीड कंट्रोल विधि है ?
◾ प्लागिंग विधि
◾ ध्रुव परिवर्तन विधि
◾ अपकेंद्रीय क्लच विधि
◾ स्टार डेल्टा स्विच विधि
Answer.ध्रुव परिवर्तन विधि

2. किसी दिष्ट धारा मोटर के प्रारंभ के समय बाह्य प्रतिरोध को समावेशित करने का उद्देश्य होता है?

◾ प्रारंभिक बल आघूर्ण बढ़ाने के लिए
◾ प्रारंभिक धारा को कम करने के लिए
◾ आर्मेचर फ्लक्स को बढ़ाने के लिए
◾ आर्मेचर फ्लक्स को घटाने के लिए
Answer.प्रारंभिक धारा को कम करने के लिए

3. एक दिष्ट धारा मोटर आभार पर 1140rpm गति से चल रही है पूर्ण भार का आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण मुख्य फ्लक्स 5% कम हो जाता है जबकि आर्मेचर परिपथ वोल्टता ह्रास 10% है मोटर की पूर्ण भार चाल है ?

◾ 1000 Rpm
◾ 1040 Rpm
◾ 1080 Rpm
◾ 1200 Rpm
Answer.1080 Rpm

4. बहुत ही न्यून चाल एवं उच्च शक्ति अनुप्रयोगों में सर्वाधिक श्रेष्ठ ए.सी मोटर है?

◾ A.C कॉमुटेटर मोटर
◾ तुल्यकालिक मोटर
◾ स्लीप रिंग प्रेरण मोटर
◾ पिंजरी प्रेरण मोटर
Answer.तुल्यकालिक मोटर

5. एक तुल्यकालिक मोटर में यदि नो लोड पर आर्मेचर में उत्पादित पश्च विद्युत वाहक बल आरोपित वोल्टता के लगभग बराबर होता है तो ?

◾ अधिकतम टॉर्क उत्पादित होता है
◾ उत्तेजना शून्य प्रतिशत कही जाती है
◾ उत्तेजना 100% कही जाती है
◾ मोटर पूर्णतया भारित कहा जाता है
Answer.उत्तेजना 100% कही जाती है

6. निम्न में से कौन सा एकल फेज मोटर एक चक्कर प्रति मिनट के समान निम्न गति के साथ उपलब्ध है?

◾ हिस्टरैक्सी
◾ यूनिवर्सल
◾ शेडेड पोल
◾ रिलेक्टेंस
Answer.शेडेड पोल

7. दिष्ट धारा शंट मोटर का क्षेत्र नियंत्रण देता है?

◾ स्थिर बल आघूर्ण ड्राइव
◾ स्थिर गति ड्राइवर
◾ स्थिर KW ड्राइव
◾ परिवर्तनीय भार गति ड्राइव
Answer.स्थिर KW ड्राइव

8. किसी चाल ध्रुवीय तरंग वेष्टित दिष्ट धारा मशीन जिसके आर्मेचर चालकों की संख्या 100 है तथा वे 600 Rpm पर घूम रहे हैं यदि प्रति ध्रुव फ्लक्स 1 Wb है तो प्रेरक विद्युत वाहक बल कितना होगा?

◾ 100V
◾ 200V
◾ 1000V
◾ 2000V
Answer.2000V

9. डीसी जनित्र में कंप्यूटेटर पर लगे ब्रुशों का अपनी ज्यामितीय उदासीन स्थिति से बदलने का मुख्य उद्देश्य है?

◾ स्पार्किंग के रोकथाम के लिए
◾ उच्चतम जनित्र दक्षता प्राप्त करने के लिए
◾ उच्चतम जनित्र वोल्टेज प्राप्त करने के लिए
◾ उपरोक्त सभी
Answer.स्पार्किंग के रोकथाम के लिए

10. गति नियंत्रण हेतु एक डी.सी शंटमोटर में एक क्षेत्र नियंत्रक लगाया गया है स्थिर बल आघूर्ण लोड के लिए नियंत्रण के प्रतिरोध के किस मान हेतु गति न्यूनतम होगी?

◾ अनंत
◾ 0 Ω लगभग
◾ 10 Ω लगभग
◾ 100 Ω लगभग
Answer.अनंत

11. एक त्रिकला प्रेरण मोटर में वायु अंतराल शक्ति रोटर ताम्र हानियां तथा उत्पन्न यांत्रिक शक्ति का क्रमशः अनुपात है ?

◾ (1-S):S:1
◾ 1:(1-S):S
◾ 1:S:(1-S)
◾ S:(1-S):1
Answer.1:S:(1-S)

12. एक ही सॉफ्ट पर युग्मित दो तुल्यकाली मशीनों का प्रयोग 50Hz शक्ति श्रौत 60Hz आवृत्ति पर शक्ति उत्पन्न करने के लिए किया जा सकता है यदि दोनों मशीन न्यूनतम ध्रुव संख्या का प्रयोग कर रहे हैं तो तुल्यकाली चाल होगी ?

◾ 500 Rpm
◾ 600 Rpm
◾ 1000 Rpm
◾ 1200 Rpm
Answer.600 Rpm

13. जनित्र जो रोटर को डीसी आपूर्ति करता है उसे कहते हैं ?

◾ कनवर्टर
◾ उत्सर्जक
◾ रेक्टिफायर
◾ इन्वर्टर
Answer.कनवर्टर

14. तुल्यकालिक मोटर में डंपर वाइंडिंग प्रयोग की जाती है ?

◾ पावर फैक्टर में सुधार लाने के लिए
◾ दक्षता में सुधार करने के लिए
◾ रिलेक्टेन्स टॉर्क का निर्माण करने के लिए
◾ हटिंग दोष को कम करने के लिए
Answer.हटिंग दोष को कम करने के लिए

15. यदि एक श्रेणी डीसी मोटर का आर्मेचर प्रतिरोध 0.06Ω और श्रेणी क्षेत्र प्रतिरोध 0.08Ω है जो 400V विद्युत सप्लाई से संयोजित की जाती है|◾ यदि मोटर लाइन धारा 20 एंपियर तथा 1100rpm की गति से घूर्णन कर रहे है जब लाइन धारा का मान 50 एंपियर हो तथा विद्युत सप्लाई के मान में 30% की वृद्धि की जाए तो मशीन की गति Rpm मैं कितनी होगी ?

◾ 837
◾ 968
◾ 1003
◾ 1100
Answer.837

16. तुल्यकालिक मोटर के स्टेटर मैं व्यवस्थित पश्च विद्युत वाहक बल निर्भर होगी?

◾ केवल रोटर कि उत्तेजना पर
◾ केवल रोटर की गति पर
◾ ए तथा बी दोनों
◾ कपलिंग, एंगल, रोटर स्पीड तथा उत्तेजना
Answer.केवल रोटर कि उत्तेजना पर

17. यूनिवर्सल मोटर एक ऐसी मोटर है जो:

◾ किसी भी सप्लाई वोल्टेज मान पर चल सकती है
◾ अनंत गति परिवर्तनीय है
◾ AC तथा DC दोनों पर प्रचालित हो सकती है
◾ एकल कला अथवा त्रि- कला के रूप में कार्य कर सकती है
Answer.AC तथा DC दोनों पर प्रचालित हो सकती है

18. किसी प्रेरण मोटर में यदि वायु अंतराल बढ़ाया जाता है तो?

◾ चाल घट जाएगी
◾ दक्षता सुधरेगी
◾ शक्ति गुणक कम होगी
◾ भंजक बल आघूर्ण घट जाएगा
Answer.शक्ति गुणक कम होगी

19. किसी दिष्टधारा श्रेणी मोटर को भार के साथ ही प्रारंभ किया जाना चाहिए क्योंकि?

◾ यह चलना प्रारंभ नहीं करेगी
◾ यह उच्च प्रारंभ बल आघूर्ण नहीं पैदा करेगी
◾ अभार पर यह खतरनाक उच्च गति से घूमेगी
◾ सभी सत्य है
Answer.अभार पर यह खतरनाक उच्च गति से घूमेगी

20. एक 300 KW का अल्टरनेटर 4% गति नियमन वाले प्राइम मूवर से चलाया जाता है जबकि एक अन्य 200 MH का अल्टरनेटर 3% वाले प्राइम मूवर से चलाया जाता है समांतर में प्रचालित होने पर इसके ओवरलोड में होने पर कुल भार होगा?

◾ 257 KW
◾ 425 KW
◾ 500 KW
◾ 567 KW
Answer.425 KW

21. डी.सी मशीनों में प्रति रुपी कुंडली के प्रयोग करने का उद्देश्य है:

◾ मशीन में विकसित हारमोनिक्स को अलग करना
◾ आर्मेचर प्रतिक्रिया को अलग करना
◾ आर्मेचर के यांत्रिक संतुलन को लाना
◾ मोटर की बॉडी के यांत्रिक संतुलन को लाना
Answer.आर्मेचर के यांत्रिक संतुलन को लाना

22. फ्लेमिंग का बाएं हाथ का नियम निम्न में से किसके लिए उपरोक्त है?

◾ डी.सी जनित्र
◾ ट्रांसफार्मर
◾ डी.सी मोटर
◾ अल्टरनेटर
Answer.डी.सी मोटर

23. डी सी श्रेणी मोटर में नो लोड पर सीमित गति संभव है यदि प्रतिरोध को लगाया जाए?

◾ क्षेत्र सिरों पर .
◾ आर्मेचर सिरों पर
◾ क्षेत्र तथा आर्मेचर सिरों पर साथ-साथ
◾ यह संभव नहीं है
Answer.आर्मेचर सिरों पर

24. एक डी.सी मशीन में इंटरपोलस का क्या कार्य होता है?

◾ फील्ड वाइंडिंग हिटिंग को कम करना
◾ कंप्यूटेशन को बढ़ाना
◾ हवा अंतराल परिवर्तन के लिए क्षतिपूर्ति करना
◾ हानियों को कम करना
Answer.कंप्यूटेशन को बढ़ाना

25. एक तुल्यकालिक मोटर, तुल्यकालिक कंडेनसर के समान प्रयोग किया जा सकता है जब वह हो:

◾ अधिक भारित
◾ अधिक उत्तेजित
◾ निम्न उत्तेजित
◾ निम्न भारित
Answer.अधिक उत्तेजित

26. निम्नलिखित में से कौन सी मोटर A.C और D.C सप्लाई पर भी चल सकते हैं?

◾ प्रतिष्ठम्भ मोटर
◾ सार्वत्रिक मोटर
◾ तुल्यकालिक मोटर
◾ प्रतिकर्षण मोटर
Answer.सार्वत्रिक मोटर

27. एक प्रेरण प्रकार के मोटर में अधिकतम बल आघूर्ण उत्पन्न होता है जब दो फ्लक्स के बीच में कला कोण हो?

◾ 0°
◾ 45°
◾ 60°
◾ 90°
Answer.90°

28. निम्न में किस में टार्क उत्पन्न करा कर तीन कलीय सिंक्रोनस मोटर को स्टार्ट किया जा सकता है?

◾ उच्च गतिशील भाप टरबाइन
◾ रोटर की डंपर वाइंडिंग
◾ स्टेटर की डंपर वाइंडिंग
◾ निम्न गतिशील जल टरबाइन
Answer. रोटर की डंपर वाइंडिंग

29. तत्काल गति दिशा परिवर्तन हेतु निम्न में से कौन सी मोटर प्रयुक्त की जाती है?

◾ पिंजरी प्रेरण मोटर
◾ तुल्यकाली मोटर
◾ दिष्ट धारा मोटर
◾ वाउंड रोटर प्रेरण मोटर
Answer.दिष्ट धारा मोटर
30. दिष्ट धारा मशीन में स्टेटर एवं रोटर क्षेत्रों के मध्य कोण होता है?
◾ भार पर निर्भर
◾ 45°
◾ 90°
◾ 180°
Answer.90°

31. तुल्यकालिक जनित्र स्त्रोत है?

◾ रियल पावर का
◾ रिएक्टिव पावर का
◾ एपेरेंट पावर का
◾ रियल और रिएक्टिव दोनों पावर का
Answer.रिएक्टिव पावर का

32. दिष्ट धारा मशीन में मूक कुंडलनो का कार्य होता है ?

◾ प्रेरित विद्युत वाहक बल को बढ़ाना
◾ औसत पिच को पूर्णांक बनाना
◾ इसके विद्युत अभी लक्षणों को सुधारना
◾ आर्मेचर को यांत्रिक संतुलन प्रदान करना
Answer.आर्मेचर को यांत्रिक संतुलन प्रदान करना

33. निम्नांकित में से किस मशीन के जोड़े में स्टेटर तथा उसकी लपेट समान प्रकार की हो सकती है?

◾ सार्वभौमिक मोटर तथा स्टेपर मोटर
◾ डी.सी मोटर तथा हिस्टैरिसीस मोटर
◾ हिस्टैरिसीस मोटर तथा प्रतिष्ठम्भ मोटर
◾ प्रेरण मोटर तथा डी.सी मोटर
Answer.हिस्टैरिसीस मोटर तथा प्रतिष्ठम्भ मोटर

34. चालू होने पर सिंगल फेज इंडक्शन मोटर में दो घूर्णन क्षेत्र उत्पन्न करते हैं?

◾ रोटर चालकों मैं असमान बल आघूर्ण
◾ रोटर चालक में कोई आघूर्ण नहीं
◾ रोटर चालकों में समान एवं विपरीत बल आघूर्ण
◾ रोटर चालकों में समान दिशा में समान बल आघूर्ण
Answer.रोटर चालकों में समान एवं विपरीत बल आघूर्ण

35. ट्रैक्शन कार्य में प्रयुक्त दिष्ट धारा श्रेणी मोटरों की गति नियंत्रण के लिए सामान्यतः प्रयोग होने वाला श्रेणी समानांतर प्रणाली गति परास देता है लगभग ?

◾ 1:2
◾ 1:3
◾ 1:4
◾ 1:6
Answer.1:4

36. किसी डी.सी शंट जनित्र की दक्षता उच्च होती है?

◾ चुंबकीय ह्रास यांत्रिक ह्रास के बराबर हो
◾ क्षेत्र ताम्र ह्रास, नियतांक ह्रास के बराबर हो
◾ स्ट्रे ह्रास, ताम्र ह्रास के बराबर हो
◾ आर्मेचर ताम्र हानि, नियतांक ह्रास के बराबर हो
Answer.आर्मेचर ताम्र हानि, नियतांक ह्रास के बराबर हो

37. तीन- कला वोल्टता स्रोत प्रतिपक को प्रेरण मोटर की चाल है नियंत्रित करने के लिए प्रयोग किया जाता है प्रति समांतर डायोड प्रत्येक स्विचन युक्ति पर प्रयोग किए जाते हैं डायोड का मुख्य उद्देश्य है?

◾ अति वोल्टता के विरुद्ध स्विचन युक्तियों का संरक्षण
◾ मुक्त चक्रण धारा के लिए पथ प्रदान करना
◾ पुनर्जनन के दौरान ऊर्जा की वापसी की अनुमति देना
◾ युक्तियों के स्विचिंग ऑफ करने में मदद देना
Answer.पुनर्जनन के दौरान ऊर्जा की वापसी की अनुमति देना

38. किसी प्रेरण मोटर के वायु अंतराल के लंबाई बढ़ाने का प्रभाव होता है बढ़ाने के लिए :

◾ शक्ति गुणांक
◾ चुंबकीय धारा
◾ चाल
◾ वायु अंतराल फ्लक्स
Answer.चुंबकीय धारा

39. एक बाह्य उत्तेजित दिष्ट धारा मोटर को एकल कला पूर्ण परिवर्तक जिसका फायरिंग कोण 60° है तो 1000 RPM पर चलाया जाता है यदि मोटर को अर्ध परिवर्तक जिसका फायरिंग कोण 60° ही है से संयोजित किया जाए तो यह चलेगी?

◾ 1000 Rpm पर
◾ 1500 Rpm पर
◾ 1850 Rpm पर
◾ 2000 Rpm पर
Answer.1500 Rpm पर

40. एक संचयी मिश्रित दिष्ट धारा जनित्र 200 वोल्ट पर 20A धारा आपूर्ति करता है यदि श्रेणी कुंडलन को लघु पथित कर दिया जाए तो टर्मिनल वोल्टता क्या होगी?

◾ अपरिवर्तित
◾ बढ़कर अचानक अत्याधिक हो जाएगी
◾ बढ़कर 220V हो जाएगी
◾ 220V से कम हो जाएगी
Answer.220V से कम हो जाएगी

41. यदि किसी सर्पी वलय प्रेरण मोटर के घूर्णन परिपथ में प्रतिरोध निविष्ट किया जाता है तब प्रत्यक्ष लाइन प्रारंभ करने की तुलना में ?

◾ प्रवर्तन धारा और बल आघूर्ण दोनों घट जाएंगे
◾ प्रवर्तन धारा और बल आघूर्ण दोनों बढ़ जाएंगे
◾ प्रवर्तन धारा घट जाएगी किंतु प्रवर्तन बल आघूर्ण बढ़ जाएगा
◾ प्रवर्तन धारा घट जाएगी किंतु प्रवर्तन बल आघूर्ण वही रहेगा
Answer.प्रवर्तन धारा घट जाएगी किंतु प्रवर्तन बल आघूर्ण बढ़ जाएगा

42. यदि डीसी मोटर में आर्मेचर सिरों के मध्य विद्युत सप्लाई ध्रुवियता को उल्टा कर दिया जाए तब निम्न में से किस अवस्था में होगी ?

◾ गतिशील ब्रेकिंग अवस्था
◾ साधारण मोटरिंग अवस्था
◾ रिजेनरेटीव अवस्था
◾ प्लागिंग अवस्था
Answer.प्लागिंग अवस्था

43. किसी प्रारंभिक धारा मोटर में भंवर धारा हानि 50 Hz पर 100 वाट है 100 Hz आवृत्ति पर इसकी भंवर धारा हानि होगी ?

◾ 25 वाट
◾ 50 वाट
◾ 200 वाट
◾ 400 वाट
Answer.400 वाट

44. Mmf विधि का प्रयोग करके किसी भी शक्ति गुणांक पर तुल्यकालिक जनित्र का पूर्ण भार वोल्टेज नियमन की गणना करने के लिए आवश्यक है ?

◾ खुला परिपथ तथा लघु परिपथ अभिलक्षण
◾ खुला परिपथ तथा शून्य शक्ति गुणांक अभिलक्षण
◾ खुला परिपथ अभिलक्षण औसत लघु परिपथ धारा पर क्षेत्र धारा तथा आर्मेचर प्रतिरोध
◾ लघु परिपथ अभिलक्षण, शून्य शक्ति गुणांक अभिलक्षण तथा आर्मेचर प्रतिरोध
Answer.खुला परिपथ अभिलक्षण औसत लघु परिपथ धारा पर क्षेत्र धारा तथा आर्मेचर प्रतिरोध

45. इनमे से कौन सा कथन सही है?

◾ डायनेमो विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलता है एवं वैद्युतिक मोटर यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में बदलता है
◾ डायनेमो यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा बदलता है एवं वैद्युतिक मोटर विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलता है
◾ डायनेमो एवं वैद्युतिक मोटर दोनों ही विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलते हैं
◾ डायनेमो एवं वैद्युतिक मोटर दोनों ही यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में बदलते हैं
Answer.डायनेमो यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा बदलता है एवं वैद्युतिक मोटर विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलता है

46. डी.सी जनित्र का कंप्यूटेटर ……….. के समान व्यवहार करता है?

◾ प्रवर्धक
◾ मल्टीप्लायर
◾ लोड
◾ दिष्टकारी
Answer.दिष्टकारी

47. स्थिर समानांतर प्रचालन के लिए शंट जनित्र अत्यधिक उपयुक्त होते हैं क्योंकि इनकी वोल्टता अभिलक्षण होते हैं ?

◾ सर्वसम
◾ रेखिय
◾ ड्रुपिंग
◾ बढ़ते हुए
Answer.ड्रुपिंग

48. एक स्वर उत्तेजित दिष्ट धारा जनित्र स्थापना के बाद प्रयास में वोल्टता पैदा करने में विफल हो जाता है तो?

◾ क्षेत्र कुंडलन संयोजन को उल्टा लगाना
◾ क्षेत्र प्रतिरोध को बढ़ाना
◾ मूल गति उत्पादक की गति कम करना
◾ मूल गति उत्पादक की गति बढ़ाना
Answer.क्षेत्र कुंडलन संयोजन को उल्टा लगाना

49. विद्युत मशीनों के ब्रश बने होते हैं ?

◾ कार्बन के
◾ नाइक्रोम के
◾ जर्मन सिल्वर के
◾ कोंस्टान्टेन के
Answer.कार्बन के

50. डी.सी शंट मोटर के चाल नियंत्रण की आर्मेचर शंटकारी पद्धति को किस कारण से आर्मेचर प्रतिरोध पर तरजीह दी जाती है?

◾ बेहतर चाल नियंत्रण
◾ बाहरी प्रतिरोध मैं कम हानि
◾ नियंत्रण परिपथ में सरलता
◾ नियंत्रण को न्यूनीकृत लागत
Answer.बेहतर चाल नियंत्रण

51. 1 तीन फेज वाली प्रेरण मोटर स्टेटर स्ट्रकवर के सापेक्ष मै रोटर फील्ड इन में से किस गति पर चलता है ?

◾ स्टेटर फील्ड की दिशा मैं तुल्यकालिक गति पर
◾ स्टेटर गति की दिशा में सर्पण गति पर
◾ स्टेटर फील्ड के विपरीत दिशा में तुल्यकालिक गति पर
◾ शून्य गति पर
Answer.स्टेटर फील्ड की दिशा मैं तुल्यकालिक गति पर

52. 4 ध्रुव ,3 फेज की प्रेरण मोटर 50 Hz सप्लाई पर 1440 Rpm पर चलती है विसर्पण गति ज्ञात कीजिए?

◾ 500 Rpm
◾ 1440 Rpm
◾ 1500 Rpm
◾ 2940 Rpm
Answer.500 Rpm

53. वैद्युतिक मशीनों में लैमिनेटेड कोर का प्रयोग करने का कारण है?

◾ एडी धारा क्षति को कम करना
◾ हिस्टैरेसीस क्षति को कम करना
◾ ए और बी दोनों
◾ उपरोक्त में से कोई नहीं
Answer.ए और बी दोनों

54. किसी प्रेरण मोटर का 12% सर्पण पर अधिकतम बल आघूर्ण 200 किलोग्राम मी है 6% सर्पण पर बल आघूर्ण क्या होगा?

◾ 40 किग्रा-मी
◾ 50 किग्रा-मी
◾ 100 किग्रा-मी
◾ 160 किग्रा-मी
Answer.160 किग्रा-मी

55. प्रेरणा जनित्र स्थिर होते हैं?

◾ तुल्यकालिक चाल से नीचे की चाल पर
◾ तुल्यकालिक चाल से ऊपर की चाल पर
◾ तुल्यकालिक चाल के बराबर की चाल पर
◾ उपरोक्त में से कोई नहीं
Answer.तुल्यकालिक चाल से ऊपर की चाल पर

जो उम्मीदवार इलेक्ट्रिकल मशीन के प्रश्न ढूढ़ रहे है ,उन्हें इस पोस्ट में इलेक्ट्रीशियन प्रश्न उत्तर Pdf इलेक्ट्रीशियन थ्योरी प्रश्न उत्तर Electrical Machines Quiz Questions And Answers Basic Electrical Machines Objective Questions And Answers Electrical Machines Questions And Answers Pdf Electrical Machines Objective Questions And Answers Pdf आईटीआई क्वेश्चन पेपर इन हिंदी इलेक्ट्रीशियन आईटीआई इलेक्ट्रीशियन क्वेश्चन पेपर इन हिंदी पीडीएफ आईटीआई इलेक्ट्रीशियन नोट्स इन हिंदी पीडीएफ से संबंधित फ्री ऑनलाइन टेस्ट दिया गया है. तो आप इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें. अगर इनके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछो और अगर आपको यह टेस्ट फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें.

17 Comments

  • Sir me compitation exam ki teyari
    Kar raha hu mere pas usaka syllabus he kya o syllabus hindi me mil sakta he kya plice reaply

  • Sir,i am Shubham pal main Diploma student aur mera question hai ki yadi kisi transformer ki dono side(primary aur secondary) par coil turns ki no.equal ho to ese transformer ko hum kya kahenge aur wo kse kam krega.aur sir 1 aur question hai ki hum electricity ka transmission high voltage par hi kyu krte h losses kam krne k liye krte h lekin low voltage par bhi to transmission hota h sir ye question mujhse mere external sir ne puche the sir agar aap ko pta ho to plz iska ans jarur dijiyega thnks.

    • 1. When the number of turns in primary is equal to number of turns in the secondary then we get a unity / 1:1 / isolation transformer. Here, step up or step down of voltage level does not take place.

      2.You must be aware of the electrical loss in current carrying conductor.Means if the current will increase, the loss will be more.

      When voltage is increased, keeping resistance constant, the current will decrease . (v=ir)

      Thus transmission is preferred in high voltage instead of high current.

  • Sir,i am Shubham pal main Diploma student aur mera question hai ki yadi kisi transformer ki dono side(primary aur secondary) par coil turns ki no.equal ho to ese transformer ko hum kya kahenge aur wo kse kam krega.aur sir 1 aur question hai ki hum electricity ka transmission high voltage par hi kyu krte h losses kam krne k liye krte h lekin low voltage par bhi to transmission hota h sir ye question mujhse mere external sir ne puche the sir agar aap ko pta ho to plz iska ans jarur dijiyega thnks.

    • 1. When the number of turns in primary is equal to number of turns in the secondary then we get a unity / 1:1 / isolation transformer. Here, step up or step down of voltage level does not take place.

      2.You must be aware of the electrical loss in current carrying conductor.Means if the current will increase, the loss will be more.

      When voltage is increased, keeping resistance constant, the current will decrease . (v=ir)

      Thus transmission is preferred in high voltage instead of high current.

Leave a Comment