Basic KnowledgeElectrical

तार और केबल किसे कहते है और इन में क्या अंतर है

तार और केबल किसे कहते है और इन में क्या अंतर है

इलेक्ट्रिसिटी क्षेत्र में हर जगह हम तार और केवल का इस्तेमाल करते हैं लेकिन सभी को नहीं पता होता कि आखिर तार और केबल्स में क्या अंतर होता है. हम लगभग सभी केबल को ही तार बोलते हैं. आज इस पोस्ट में हम आपको तार और केबल इलेक्ट्रिकल केबल विद्युत केबल केबल कितने प्रकार का होता है के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं.

तार (Wire) :– जिस चालक पर किसी प्रकार का कोई भी इंसुलेशन नहीं चढ़ा होता और जिसकी पूरी लंबाई का व्यास एक जैसा होता है उसे तार कहते हैं. आपने अक्सर बड़ी-बड़ी बिजली की लाइन देखी होगी जहां पर उन लाइनों के ऊपर किसी प्रकार का कोई इंसुलेशन नहीं चढ़ा होता उन्हें ही तार कहा जाता है.

तो जैसा कि आप देख सकते हैं इन तारों का इस्तेमाल बिजली को एक शहर से दूसरे शहर भेजने के लिए किया जाता है.

केबल (Cable) :– जब किसी तार पर इंसुलेशन चढ़ाया जाता है तो उस तार को केबल कहा जाता है. तार पूरी तरह से नंगी होती है और केबल पर पूरी तरह से इंसुलेशन लगा होता है. तो हम घरों में हमेशा केबल का ही इस्तेमाल करते हैं ना की तार का. कई केबल पर सिर्फ एक ही इंसुलेशन की लेयर लगाई जाती है लेकिन कुछ केबल ऐसी होती हैं जिनके अंदर कई तार होती हैं और उनके ऊपर भी दो-तीन इंसुलेशन की लेयर होती है.

केबल के मुख्य भाग

चालक ( Conductor ) :-यह केबल का मुख्य भाग होता है.चालक करंट को एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. और केवल में चालक मुख्यतः तांबा और एलुमिनियम धातु का पाया जाता है. और यह सिंगल कोर , डबल Core मल्टी कोर हो सकती है.

इंसुलेशन (Insulation) :-केबल पर इंसुलेशन लेयर लगाई जाती है ताकि अगर कोई केबल को छुए तो उसे करंट ना लगे और इसे वातावरण के प्रभाव से बचाने के लिए भी तार पर इंसुलेशन लगाई जाती है. किसी भी केबल का इंसुलेशन बहुत ही बढ़िया क्वालिटी का होना चाहिए और वह नमी और धूप में खराब होने वाला ने होना चाहिए.

सुरक्षा कवर (Safety cover) :-कुछ केवल ऐसी होती हैं जिन पर इंसुलेशन के बाद में एक और लेयर लगाई जाती है ताकि उसमें से लीकेज करंट भी बाहर ना आ सके और ज्यादातर पावर केबल में हमें यह अतिरिक्त लेयर देखने को मिलती है. जो केवल थ्री फेस के लिए इस्तेमाल होती है उनमें ज्यादातर सुरक्षा कवर लगाया जाता है.

केबल कितने प्रकार का होता है

Types Of Cables in Hindi ? मार्केट में आपको अलग-अलग प्रकार की केवल देखने को मिलेगी केबल को हमेशा उसके इस्तेमाल के आधार पर बनाया जाता है कि आख़िर उसका इस्तेमाल कहां पर किया जाएगा और किस उपकरण के लिए किया जाएगा तो उसी आधार को देखते हुए केबल बनाई जाती है. नीचे आपको अलग-अलग प्रकार की केबल के बारे में बताया गया है और बताया गया है कि आखिर उस केबल का इस्तेमाल किस काम के लिए किया जा.

पीवीसी केबल (PVC Cable) :-  PVC का पूरा नाम पॉली विनाइल केवल होता है. इन केबल के ऊपर पॉली विनाइल का इंसुलेशन चढ़ाया जाता है. यह एक प्रकार का प्लास्टिक पदार्थ होता है लेकिन यह रबड़ से काफी अच्छा पदार्थ है. PVC केबल 250/400 और 650/1000 तक की वोल्टेज ग्रेडिंग की बनाई जाती है. बाजार में यह केवल आपको अलग अलग साइज में मिलेगी. जहां पर बहुत ज्यादा तापमान होता है वहां पर इस प्रकार की केबल का इस्तेमाल बहुत कम किया जाता है क्योंकि गर्मी के कारण इस केबल का इंसुलेशन काफी गर्म हो जाता है इसका इस्तेमाल सिर्फ घरों और फैक्ट्रियों के अंदर किया जा सकता है.

सी. टी. एस. या टी. आर. एस. :– cts wire full form = एक केबल को टफ रबड़ शीथड (टीआरएस ) या केबल टायर शीथड (CTS ) भी कहा जाता है. इन केबल के प्रकार कवर टफ रबड़ से बनाया जाता है यह भार में बहुत ही हल्की और सस्ती होती है और यह केवल आपको सिंगल कोर डबल Core और ट्रिपल कोर में मिल जाती है. यह केवल नमी वाले स्थानों पर इस्तेमाल की जाती है.इस प्रकार की केबल कहां इस्तेमाल बैटन वायरिंग और टेलीफोन की लाइन में ज्यादा किया जाता है.

वातावरण सुरक्षित केबल (Weather Proof Cable) :– इस प्रकार की केबल के चालकों पर PVC या VIR का इंसुलेशन लगाया जाता है और इस प्रकार के केवल में को प्रकार टिंनड चालक इस्तेमाल किया जाता है. और इसके ऊपर तीन परत वाली सूत की ब्रीडिंग की जाती है .जो कि इस केबल को वातावरण के प्रभाव से बचाती है. इस प्रकार की केबल कीमत में काफी सस्ती होती है और इनका इस्तेमाल खुले स्थान वाले क्षेत्र में किया जाता है .

वैल्केनाइजड़ इंडियन रबड़ केबल ( VIR Cable ) :– VIR Cable Full Form ” Vulcanised India Rubber Cable ” है .इस केबल के ऊपर वैल्केनाइजड़ रबड़ की इंसुलेशन चढ़ाई जाती है और उसके ऊपर मोम में भीगी हुई रोटी का एक और सेफ्टी कवर लगाया जाता है.ऐसी केबल को Conduit वायरिंग करते समय पाइप के अंदर से खींचना आसान हो जाता है.

लीड शीटेड केबल (Lead sheathed Cable ) :– इस प्रकार की केबल पर Lead sheathed का इंसुलेशन चढ़ाया जाता है. लेकिन इससे पहले के बल पर रबड़ का इंसुलेशन लगाया जाता है. इस प्रकार की केबल की यांत्रिक शक्ति बहुत मजबूत होती है और इस प्रकार की केबल का इस्तेमाल खुले स्थान और नमी वाले स्थान में ज्यादा किया जाता है इसी कारण यह केवल महंगी होती है और इनका इस्तेमाल भी कम किया जाता है.

ट्रोपोडूयोर केबल (Tropodure Cable) :-जब PVC फायर के ऊपर थर्मोप्लास्टिक की परत लगाई जाती है तो उसे ट्रोपोडूयोर केबल कहते हैं. इस प्रकार की केबल सिंगल कोर, डबल Core और ट्रिपल कोर में मिलते हैं. इस प्रकार की केबल का इस्तेमाल जमीन के अंदर और टेलीफोन सिग्नल के लिए ज्यादा किया जाता है.

लचकदार केबल (Flexible Cable) :–  इस प्रकार की केबल विशेष तौर पर आसानी से मुड़ने घूमने के लिए बनाई जाती है. ताकि अगर केबल को कितनी भी बार घुमाया जाए या मोड आ जाए तो वह टूटे ना. और ज्यादातर उपकरण में इस प्रकार की केबल का इस्तेमाल किया जाता है. इस प्रकार की केबल आपको प्रेस, पंखे, फ्रिज इत्यादि में देखने को मिलेगी.

इस पोस्ट में हमने आपको केवल से संबंधित पूरी जानकारी देने की कोशिश की है इसमें आपको केबल क्या होती है केबल कितने प्रकार की होती है और कौन सी केबल का इस्तेमाल किया बनाने के लिए किया जाता है और कहां पर केवल का इस्तेमाल किया जाता है यह सब जानकारी यहां पर आप को दी गई है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करें और अगर यह जानकारी आपको फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

Related Articles

12 Comments

  1. Dear sir
    Neutral aur earth me क्या deference hai
    Sir मुझे electrical के बारे में जानकारी चाहिए
    Plese sir

  2. सर् स्टार और डेल्टा के बारे में कुछ जानकारी दीजिये

  3. सर् स्टार और डेल्टा के बारे में कुछ जानकारी दीजिये

  4. Sir ऐल्यूमिनियम और कॉपर vainding vayar par chada enemald इन्सुलेशन kiska bna hota he

  5. Sir ऐल्यूमिनियम और कॉपर vainding vayar par chada enemald इन्सुलेशन kiska bna hota he

  6. आपने कितना विस्तार से से बताया है, तार और केबल किसे कहते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Resistor क्या है ? प्रतिरोधक किसे कहते है जानें Diode क्या होती है इसके प्रकार और उपयोग सबसे सस्ता 3 किलोवाट सोलर सिस्टम घर पर लगायें सबसे सस्ता 2 किलोवाट सोलर सिस्टम घर पर लगायें बिजली फिटिंग का सामान